दंगा से कैसे निपटें, बता गए रैफ के जवान

Recent Photograph of Police Events

रांची : सांप्रदायिक दंगा हो जाए तो पुलिस उनसे कैसे निपटे। क्या तरकीब अपनाई जाए, जिससे कम से कम क्षति हो और दंगे पर पर काबू पाया जा सके। ऐसे कई तरकीबों से रैपिड एक्शन फोर्स के जवानों ने रांची पुलिस को अवगत कराया। बुधवार को न्यू पुलिस लाइन गोंदा में रैफ के जवानों ने दंगे से निपटने के तरीकों का प्रदर्शन किया। रांची पुलिस व आपदा प्रबंधन विभाग रांची के सहयोग से यह आयोजन हुआ। आरपीएफ जमशेदपुर के 106 बटालियन के डिप्टी कमांडेंट पीएल शेट्ठी और सहायक कमांडर भरत कुमार के निर्देशन में इसका प्रदर्शन हुआ। प्रदर्शन के माध्यम से यह दिखाया गया कि दंगा के दौरान किस तरह रैफ काम करती है। इसके अंतर्गत विभिन्न प्रकार की विधाएं, जैसे स्टैंडर्ड लाइन, वन डीप, टू डीप, सुरक्षा घेरा आदि प्रक्रियाएं हुई। इसके अलावा रैफ के जवानों ने एक मिनट में चार-चार हथियारों को खोलने व जोड़ने का प्रदर्शन किया। एसएसपी के साथ पुलिस विभाग के अन्य अधिकारियों एवं पुलिस बल के जवानों को विभिन्न प्रकार के ग्रेनेड जैसे स्टैंड ग्रेनेड, मांटेन ग्रेनेड, नागफास, लांग रेंज सेल, शार्ट रेंज सेल, वनवे ग्रेनेड, थ्रीवे ग्रेनेड, प्लास्टिक बुलेट, रबर बुलेट के बारे में जानकारी दी गई। एसएसपी ने स्वयं अपने हाथ से ग्रेनेड फेंककर प्रदर्शन किया। मौके पर मौजूद आपदा प्रबंधन विभाग के जिला परियोजना अधिकारी वीरेंद्र पांडेय ने कहा कि रैपिड एक्शन फोर्स के सहयोग से ऐसे पूर्वाभ्यास शहर के अन्य क्षेत्र में भी किये जाएंगे।

रांची पुलिस को मदद मिलेगी :एसएसपी

एसएसपी साकेत कुमार सिंह ने कहा कि ऐसे ड्रिल से रांची पुलिस को भी बहुत कुछ सीखने को मिलेगा। रैपिड एक्शन फोर्स को दंगे के समय बेहतर प्रदर्शन करने के लिए जाना जाता है। रांची में भविष्य में ऐसी नौबत आ सकती है, जब पुलिस को इस रणनीति की जरूरत पड़े, इसलिए रांची पुलिस को भी सशक्त किया जा रहा है।

Courtesy: Dainik Jagran 26.04.2012


 Back to Top

Office Address: Jharkhand Police Headquarters, Dhurwa, Ranchi - 834004

Copyright © 2019 Jharkhand Police. All rights reserved.