पीएलएफआइ का हिमांशु जी गिरफ्तार

रांची: राजधानी में जहां-तहां पीएलएफआइ का पोस्टर चिपकाकर दहशत फैलाने वाले मुख्य आरोपी हिमांशु जी को पुलिस ने उसके तीन साथियों के साथ गिरफ्तार कर लिया। उनके पास से पर्चे, लेटर पैड, हथियार, लेवी की रसीद व 25 हजार रुपये नकद बरामद किए गए हैं। गिरफ्तार नक्सलियों में अजीम हवारी उर्फ हिमांशु जी (सबजोनल कमांडर, पीएलएफआइ, पिता सज्जाद हवारी, खूंटी), इमरान खान (पिता जहूर खान, कांटा टोली, रांची), मोहम्मद जायद (पिता मोहम्मद जावेद खूंटी) तथा बड़कू (पिता मोहम्मद वली, खूंटी) शामिल हैं। एक अन्य साथी की गिरफ्तारी अभी बाकी है। एसएसपी साकेत कुमार सिंह ने संवाददाता सम्मेलन में बताया कि 15 मार्च की रात गोस्सनर कॉलेज की दीवार पर पीएलएफआइ के नक्सली हिमांशु ने पोस्टर लगाए थे। इसके बाद 16 मार्च व 17 मार्च की रात नामकुम थाना क्षेत्र में कैपिटल लाइन होटल से लेवी की मांग की गई थी। दोषियों को गिरफ्तार करने के लिए एक विशेष टीम का गठन किया गया। छानबीन में जानकारी मिली कि खूंटी शहर और जिला क्षेत्र के कुछ अपराधी पीएलएफआइ में शामिल हैं। संगठन के कमांडर दिनेश गोप के निर्देश पर रांची, खूंटी सीमा क्षेत्रों में निर्माण में लगी विभिन्न कंपनियों/ठेकेदारों से जबरन पैसा वसूली के लिए रांची में भेजा गया था। इन अपराधियों ने रांची के तुपुदाना ओपी, नामकुम व जगन्नाथपुर थाना क्षेत्रों तथा रांची शहर से सटे गांव में अपना ठिकाना बनाकर पीएलएफआइ के नाम पर जबरन वसूली शुरू की थी। इसी उद्देश्य से इन अपराधियों ने निर्माण में लगी कंपनियों एवं ठेकेदारों को आतंकित करने के लिए शहर में छिपकर पोस्टर लगाए थे। पुलिस ने अजीम हवारी उर्फ हिमांशु जी व उनके तीन सहयोगियों की पहचान होने के बाद उसे गिरफ्तार कर लिया। आठ महीने से यह गिरोह राजधानी में सक्रिय था। हिमांशु ने खादगढ़ा के ठेकेदार निजार खान हत्याकांड में भी पुलिस को कई अहम सुराग दिए है, जिसकी निशानदेही पर छापेमारी जारी है। गिरोह के खुलासे में शामिल पदाधिकारियों को एसएसपी ने पुरस्कृत करने की घोषणा की है।

Courtesy: Dainik Jagran 27.03.2012


 Back to Top

Office Address: Jharkhand Police Headquarters, Dhurwa, Ranchi - 834004

Copyright © 2019 Jharkhand Police. All rights reserved.