अब पूछताछ नहीं, साक्षात्कार लेगी पुलिस

Recent Photograph of Police Events

रांची : कांके रोड स्थित गोंदा थाना परिसर के पहले तल्ले पर शुक्रवार को बाल मित्र थाना कार्यालय का उदघाटन किया गया. उदघाटन अपराध अनुसंधान विभाग की अपर पुलिस महानिदेशक आशा सिन्हा ने किया. श्रीमती सिन्हा ने कहा कि बाल मित्र थाना खोलने का मुख्य उद्देश्य पुलिस को बच्चों के प्रति चाइल्ड फ्रेंडली बनाना है. इस मौके पर डीआइजी संपत मीणा, एसएसपी साकेत कुमार समेत कई अधिकारी मौजूद थे. संपत मीणा ने कहा कि अब पुलिस बाल अपराधियों से पूछताछ नहीं करेगी, बल्कि उनका साक्षात्कार लेगी, ताकि उनमें सुधार आ सके. इसके लिए गोंदा थाना के एस कंडुलना को बाल मित्र थाना का प्रभारी बनाया गया है. उनका काम बाल अपराध से जुड़े मामलों की देखरेख करना होगा. पुलिस विभाग की ओर से अभी दक्षिण छोटानागपुर रेंज में बाल अपराधियों से संबंधित मामले की देखरेख के लिए कुल 81 पुलिस पदाधिकारियों को नामित किया गया है. बाल अपराधियों से कैसे पेश आयेगी पुलिस बाल अपराधियों से अब पुलिसकर्मी प्यार व सहानुभूति से बगैर वरदी में पूछताछ करेंगे. हिरासत में लिये गये बच्चे को 24 घंटे के अंदर किशोर न्याय बोर्ड के समक्ष पेश करेंगे अब क्या नहीं करेगी पुलिस हिरासत में लिये गये बाल अपराधियों को पुलिस हथकड़ी नहीं लगायेगी. पुलिस सात वर्ष से कम सजा के मामले में बाल अपराधियों के खिलाफ एफआइआर व चार्जशीट दायर नहीं करेगी. पुलिस किशोर अपराधियों को वयस्क अपराधियों के साथ हाजत में बंद नहीं करेगी. हिरासत में लिये गये बच्चों को पुलिस सीजेएम के पास प्रस्तुत नहीं करेगी.

Courtesy:Prabhatkhabar.com 26.11.2011


 Back to Top

Office Address: Jharkhand Police Headquarters, Dhurwa, Ranchi - 834004

Copyright © 2019 Jharkhand Police. All rights reserved.